बंद करे

कृषि एवं उद्यान

कृषि एवं उद्यान विभाग, सिमडेगा।

कृषि विभाग एवं उद्यान प्रभाग, सिमडेगा के अंतर्गत संचालित योजनाओ से संबंधित/गतिविधियो की विवरणी :-

क्रं0

सं0

योजना का नाम योजना की विवरणी एवं अद्यतन स्थिति
1 बीज विनिमय एवं वितरण की योजना बीज विनिमय एवं वितरण की योजना अन्तर्गत लैम्पस/पैक्स के माध्यम से अनुदानित दर पर (50%) खरीफ एवं रब्बी मौसम में किसानों को प्रमाणित बीज उपलब्ध कराया जाता है।

जिले में खरीफ 2020 में बीज विनिमय योजना अन्तर्गत 50% अनुदान पर कुल 947.10 क्वि0 धान, मक्का, अरहर एवं उरद बीजो का वितरण किसानों के बीच किया गया है।

जिले में रब्बी वर्ष 2020-21 में बीज विनिमय योजना अन्तर्गत 50% अनुदान पर कुल 350 क्वि0 गेहूँ एवं 20 क्वि0 चना बीजों का वितरण किसानों के बीच किया जा चूका है।

2 पूर्वी भारत में हरित क्रांन्ति का विस्तार (BGREI) BGREI योजना अन्तर्गत विभिन्न खरीफ एवं रब्बी फसलों का क्लस्टर में प्रत्यक्षण हेतु बीज, खाद एवं दवा का निशुल्क वितरण किया जाता है तथा अनुदानित दर पर कृषि उपकरण (यथा पम्पसेट, रोटोवेटर, स्प्रेयर, मिनी राईस मील) एवं खलिहान आदि का निर्माण किया जाता है।

BGREI योजना अन्तर्गत प्रत्यक्षण हेतु गेहूँ बीज 406.25 क्वि0 लक्ष्य के विरूद्व 406.40 क्वि, मसूर 181.5 क्वि0 लक्ष्य के विरूद्व 167.5 क्वि0, सरसों बीज 40 क्वि0 लक्ष्य के विरूद्व 36.5 क्वि0 एवं 510 क्वि0 लक्ष्य के विरूद्व 510.08 क्वि0 बीज प्राप्त हुआ है। जिसका वितरण प्रखण्डो के माध्यम से कृषकों के बीच किया गया है।

BGREI योजना अन्तर्गत जिलें के विभिन्न प्रखण्डों कुल 37.85050/- (सैतीस लाख पच्चासी हजार पच्चास) रूपये के लागत से 60 खलिहानों का निर्माण किया गया है।

BGREI योजना अन्तर्गत खरीफ एवं रब्बी में 59 पम्पसेट, 2 मल्टी क्रॉप थ्रेसर, 3 रोटोवेटर, 21 स्प्रेयर एवं 4 मिनी राईस मिल का वितरण किया जा चूका है।

3 कृषि मेला, कर्मशाला, प्रर्दशनी की योजना कृषि मेला, कर्मशाला, प्रर्दशनी, की योजना अन्तर्गत खरीफ एवं रब्बी जिला स्तरीय एवं प्रखण्ड स्तरीय कर्मशाला, प्रखण्ड/पंचायत स्तरीय कृषि चौपाल, प्रशिक्षण, कृषि में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कृषकों को पुरस्कार एवं जिला स्तरीय कृषि मेला का आयोजन किया जाता है।

कृषि, मेला, कर्मशाला योजना अन्तर्गत जिले के सभी प्रखण्डों में रब्बी कर्मशाला (जिला/प्रखण्ड स्तरीय) एवं कृषि चौपाल का आयोजन कर लगभग 1500 किसानों को कृषि एवं संबंद्व क्षेत्रों की तकनिकी जानकारी दी गयी।

4 प्रधानमंत्री कृषि सिचांई योजना (प्रति बूंद अधिक फसल) केन्द्र प्रायोजित प्रधानमंत्री कृषि सिचांई योजना अन्तर्गत कृषकों को कम लागत पर सिचांई सुविधा उपलब्ध कराने हेतु 90% अनुदान पर ड्रीप एवं मिनी स्प्रींकलर का अधिष्ठापन विभिन्न कार्यकारी एजेंसियों के माध्यम से कराया जाता है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अन्तर्गत 90% अनुदान पर ड्रीप एवं मिनी स्प्रींकलर हेतु कुल 289 किसानों के यहाँ अधिष्ठापन हेतु कार्यादेश निर्गत किया जा चूका है।

5 झारखण्ड कृषि ऋण माफी योजना झारखण्ड कृषि ऋण माफी योजना अन्तर्गत 31 मार्च 2020 तक के मानक के0सी0सी0 ऋणी किसानों का 50000 (पच्चास हजार) रूपये तक का बकाया राशि माफ करने का प्रावधान है। योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु अहर्त्ताधारी किसान निकटतम प्रज्ञा केन्द्र/संबंधित बैंको में आवेदन 1 रूपये का भुगतान कर आवेदन कर सकते है।
6 उद्यान विकास की योजना उद्यान विकास की योजना अन्तर्गत सब्जी की तकनिकी खेती हेतु प्रत्यक्षण, ओल की खेती, कृषकों को 5 दिवसीय उद्यानिकी प्रशिक्षण, युवाओं को 90 दिवसीय प्रशिक्षण, गृह वाटिका की स्थापना, मशरूम उत्पादन हेतु 03 दिवसीय प्रशिक्षण एवं मशरूम किट वितरण तथा पपीता पौधा वितरण का कार्य किया जाता है।

योजना अन्तर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र, बानो के माध्यम से जिले के विभिन्न प्रखण्डों के 300 किसानों को मशरूम उत्पादन हेतु प्रशिक्षण दिया गया है।

योजना अन्तर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र, बानो के माध्यम से जिले के विभिन्न प्रखण्डों के 60 किसानों को बागवान मित्र का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।